Desh Bhakti Shayari in Hindi – देशभक्ति पर बेहतरीन शायरी

Desh Bhakti Shayari in Hindi: हमारे देश में कई ऐसे देश भक्ति जन्म हुए हैं, जिन्होंने अपनी जान पर खेलते हुए अपनी जान की ना परवाह करते हुए अपने देश को बचाने के लिए उन्होंने अपनी जान को निछावर करदी, जैसे कि पुलवामा आतंकी हमला जवानों की जुबानी सीआरपीएफ काफिले पर हुआ हादसा 40 जवान अपने देश के ऊपर शहीद हो गए। 15 जनवरी 2019 में हुआ है। हमारे भारत देश में बहुत बुरा हुआ है। हमारेे आतंकी हमारे देश में घुसकर आए 40 जबानों का सहीद कर गए।

Desh Bhakti Shayari

देशभक्ति पर बेहतरीन शायरी हिंदी में पढ़ें – Desh Bhakti Shayari in Hindi 

तो इन्ही के लिए हमारे देश मे एसे बहुत से व्यक्ति है जो देश भक्ति शायरी ढूंढ रहे है तो उनके लिए Best Desh Bhakti Shayari in Hindi में मिलेंगी। आज हमारे भारत देश मे बहुत ही गमी हो गयी है, तो इसी कारण से हम देश भक्ति शायरी पड़कर अपने दिल को समझा सकते है। तो आज इन शायरी को डाउनलोड करके अपने दोस्तों में शेयर कर सकते है। अब देखते है इन बेहतरीन शायरी को, हमारी इस पोस्ट में आपको देश भक्ति से रिलेटेड शायरी मिलेंगी।

मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँयहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिएबस अमन से भरा यह वतन चाहिएजब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिएऔर जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये* जय-हिन्द *

Desh Bhakti Shayari in Hindi

दिलों की नफरत को निकालोवतन के इन दुश्मनों को मारोये देश है खतरे में ए -मेरे -हमवतनभारत माँ के सम्मान को बचा लो!

 

जब देश में थी दिवाली….. वो खेल रहे थे होली…जब हम बैठे थे घरो में…… वो झेल रहे थे गोली…क्या लोग थे वो अभिमानी… है धन्य उनकी जवानी………जो शहीद हुए है उनकी… ज़रा याद करो कुर्बानी…ए मेरे वतन के लोगो… तुम आँख में भर लो पानी..!!

 

चैन ओ अमन का देश है मेरा, इस देश में दंगा रहने दोलाल हरे में मत बांटो, इसे शान ए तिरंगा रहने दो!

 

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले, शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले, जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे देशभक्तो के खून की वो धारा याद करले..|

Desh Bhakti Shayari 2019

गुलाम बने इस देश को आजाद तुमने कराया हैसुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया हैदिल से तुमको नमन हैं करतेये आजाद वतन जो दिलाया है!

 

खून से खेलेंगे होली,अगर वतन मुश्किल में हैसरफ़रोशी की तमन्नाअब हमारे दिल में है!

खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं,मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों,तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है!

 

कुछ नशा तिरंगे की आन का है,कुछ नशा मातृभूमि की मान का है,हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है !!

Best Desh Bhakti Shayari in Hindi

कुछ नशा तिरंगे की आन का है ! कुछ नशा मातृभूमि की शान का है !हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा ! नशा ये हिंदुस्तान की शान का है..!!

 

करता हूँ भारत माता से गुजारिश कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले,हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर या फिर कभी जिंदगी न मिले..!!

 

कर जस्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी आवाम !हर पत्ते को मार गिरायेंगे जो हमसे देश बटवायेंगे..!!

Top Desh Bhakti Shayari in Hindi

ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नाराये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारापर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाएकुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये !!

उनके हौंसले का मुकाबला ही नहीं है कोईजिनकी कुर्बानी का कर्ज हम पर उधार हैआज हम इसीलिए खुशहाल हैं क्यूंकिसीमा पे जवान बलिदान को तैयार है…!

 

स वतन के रखवाले हैं हमशेर ए जिगर वाले हैं हममौत से हम नहीं डरतेमौत को बाँहों में पाले हैं हम!

 

इश्क़ तो करता हैं हर कोई मेहबूब पे मरता हैं हर कोई, कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो तुझ पे मरेगा हर कोई……!!!!

Desh Bhakti Shayari, SMS 2019

इतनी सी बात हवाओं को बताये रखनारौशनी होगी चिरागों को जलाये रखनालहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमनेऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना !

आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं।तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान हैं..!!

 

अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहींसर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं!

 

अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,इसीलिए मेरा भारत महान है!

Desh Bhakti Shayari in Hindi 2019

फौजी भी कमाल के होते हैं,जेब के छोटे बटुए में परिवार,और दिल मे सारा हिंदुस्तान रखते हैं,चंदन, वंदन, अभिनंदन Indian Army~जय हिन्द!

 

चीर के बहा दूं लहू दुश्मन के सीने का,यही तो मजा है फौजी होकर जीने का।~जय हिन्द!

 

मेरे जज्बातों से मेरा कलम इस कदर वाकिफ हो जाता हैं,मैं इश्क भी लिखना चाहूँ तो इन्कलाब लिखा जाता हैं।~जय हिन्द!

 

सरहद पर एक फौजी अपना वादा निभा रहा हैं,वो धरती माँ की मोहब्बत का कर्ज चुका रहा हैं।~जय हिन्द!

 

मेरे जज्बातों से मेरा कलम इस कदर वाकिफ हो जाता हैं,मैं इश्क भी लिखना चाहूँ तो इन्कलाब लिखा जाता हैं।~जय हिन्द!

 

सरहद पर एक फौजी अपना वादा निभा रहा हैं,वो धरती माँ की मोहब्बत का कर्ज चुका रहा हैं।~जय हिन्द!

Great Desh Bhakti Shayari in Hindi

हर पल हम सच्चे भारतीय बनकर देश के प्रति अपना फर्ज निभायेंगे।जरूरत पड़ी तो लहू का एक-एक कतरा देकर इस धरती का कर्ज चुकायेंगे।~जय हिन्द!

 

सीमा नहीं बना करतीं हैं काग़ज़ खींची लकीरों से,ये घटती-बढ़ती रहती हैं वीरों की शमशीरों से।~जय हिन्द!

 

मिलते नही जो हक वो लिए जाते हैं,है आजाद हम पर गुलाम किये जाते हैं,उन सिपाहियों को रात-दिन नमन करो,मौत के साए में जो जिए जाते हैं।~जय हिन्द!

जब हम तुम अपने महबूब की आँखों में खोये थे,जब हम तुम खोयी मोहब्बत के किस्सों में खोये थे,सरहद पर कोई अपना वादा निभा रहा था,वो माँ की मोहब्बत का कर्ज चुका रहा था।~जय हिन्द!

उम्मीद करता हूं दोस्तों आपको यह Desh Bhakti Shayari in Hindi शायरी जरूर पसंद आई होगी, अगर आपको यह शायरी पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर जरूर करें, और ऐसे ही देश भक्ति पर शायरी पाने के लिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करें। !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here