मुगल काल में किन-किन राजाओं ने कौन सी प्रसिद्ध इमारतें बनवाई थी

मुगलकालीन वास्तुकला: मुगलकालीन स्थापत्य मध्य एशिया की इस्लामी और भारतीय कला का मिश्रित रूप है । इसमें फारस , तुर्की , मध्य एशिया , गुजरात , जौनपुर एवं बंगाल इत्यादि स्थानों की परम्पराओं का अद्भुत मिश्रण मिलता है । मुगलकालीन स्थापत्य के विकास को । हम निम्नलिखित मुगल सम्राटों के अन्तर्गत देखते हैं।

मुगल काल में किन-किन राजाओं ने कौन सी प्रसिद्ध इमारतें बनवाई थी

मुगल काल के राजाओं ने बनवाई इमारतें

1. बाबर

बाबर ने पानीपत के निकट ‘ काबुलीबाग मस्जिद ( 1526 ई . ) बनवायी । इसके न सम्भल में जामा मस्जिद तथा आगरा के लोदी किले के अन्दर मस्जिद निर्माण कराया । बाबर ने ज्यामितीय विधि पर आधारित एक उद्यान आगरा में आवाया जिसे ‘ नूर अफगन ‘ नाम दिया गया ।

2. हुमायूँ

हुमायूँ या ने 1533 ई . में दिल्ली में दीनपनाह नामक एक नगर का निर्माण कराया । हमार्यों ने हिसार जिले में फतेहाबाद नामक स्थान पर फारसी शैली में एक मस्जिद । का निर्माण कराया ।

         मुगलकालीन निर्माण कार्य

1. काबुली बाग  –  पानीपत  –  बावर

2. जामी मस्जिद  –  संभल ( रूहेलखंड )  –  बाबर

3. आगरा की मस्जिद  –  आगरा  –  हुमायूँ

4. पुराना किला  –  दिल्ली  –  शेरशाह सूरी

5.  किला – ए – कुहना  –  दिल्ली   – शेरशाह सूरी

6. रोहतास का किला  –  रोहतास  –  शेरशाह सूरी

7. शेरशाह का मकबरा  –  सासाराम  –  शेरशाह सूरी

  1. हुमायूँ का मकबरा  –  दिल्ली  –  हाजी बेगम

9. आगरा का किला  –  आगरा  –  अकबर

10. जहाँगीरी महल  –  आगरा  –  अकबर

11. फतेहपुर सीकरी महल  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

12. जोधाबाई का महल  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

13. मरियम की कोठी  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

14.  बीरबल का महल  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

15. पंचमहल ( हवामहल )  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

16. तुर्की सुल्तान की कोठी  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

17. खास महल  – फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

18.  जामा मस्जिद  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

19.  बुलंद दरवाजा  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

20. सलीम चिश्ती का मकबरा  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकर

21. इस्लाम शाह का मकबरा  –  फतेहपुर सीकरी  –  अकबर

22. लाहौर का किला  –  लाहौर  –  अकबर

23. इलाहाबाद का किला  –  इलाहाबाद  –  अकबर

24. अकबर का मकबरा  –  सिकंदरा  –  जहांगीर

25. ऐतमाद्दौला का मकबरा  –  आगरा  –  नूरजहां

26. जहाँगीर का मकबरा  –  शाहदरा (लाहौर)  –  नूरजहां

आदि 

शेरशाह

शेरशाह ने शेरगढ़ नामक नये नगर का निर्माण कराया । उसने दिल्ली के किले म ‘ किला – ए – कुहना ‘ नामक मस्जिद का निर्माण कराया । शेरशाह की सबसे । महत्वपूर्ण कृति बिहार के सासाराम में स्थित उसका मकबरा हैं जिसमें भारतीय तथा इस्लामी निर्माण कला का अद्भुत सम्मिश्रण देखने को मिलता है।

3. अकबर

अकबर के शासन में बनी प्रथम | इमारत , हुमायूँ का मकबरा है । इसका निर्माण हाजी बेगम द्वारा फारसी | वास्तुकार ‘ मीरक मिर्जा ग्यास ‘ की | देख – रेख में करवाया था । यह चार | बाग पद्धति पर आधारित प्रथम इमारत है । अकबर ने आगरा में अकबरी तथा जहाँगीरी महल का निर्माण कराया तथा उसने आगरा में लाल किला बनवाया । अकबर ने फतेहपुर सीकरी में विभन्न इमारतों का निर्माण कराया । इनकी प्रमुख विशेषता – चापाकार तथा धारणिक शैलियों का समन्वय है । राजपूत रानी जोधाबाई का महल फतेहपुर सीकरी का सबसे बड़ा महल है । जहाँ गुजराती शैली का व्यापक प्रभाव दिखाई देता है ।

अकबर ने गुजरात विजय की स्मृति में 134 फुट ऊँचे बुलन्द दरवाजे का निर्माण कराया । यह ईरान की अर्द्ध गुम्बदीय शैली पर आधारित है । इस्लामशाह के मकबरे में वर्गाकार मेहराब का प्रयोग देखने को मिलता है । अकबर ने इबादत खाने का निर्माण फतेहपुर सीकरी में विभिन्न धर्म गुरुओं के साथ विभिन्न धार्मिक विषयों पर चर्चा करने के लिए बनवाया था । अपने अन्तिम समय में अकबर ने इलाहाबाद में 40 स्तम्भों वाले एक विशाल किले का निर्माण करवाया था ।

4. जहाँगीर

अकबर का सिकन्दरा स्थित मकबरा जहाँगीर के काल की महत्त्वपूर्ण इमारत है । इस मकबरे की विशेषता है — इसका गुम्बद विहीन होना । आगरा में बना ऐतमाउद्दौला का मकबरा अन्य उल्लेखनीय इमारत है । पहली बार इसमें पित्रादुरा शैली का प्रयोग हुआ । जहाँगीर ने कश्मीर में प्रसिद्ध शालीमार बाग की स्थापना की ।

5. शाहजहाँ

शाहजहाँ का काल वास्तुकला का स्वर्ण युग माना जाता है । इस काल की विशेषताएँ नक्काशी युक्त या पर्णिला मेहराबें तथा बंगाल शैली में मुड़े हुए कंगूरे हैं । शाहजहाँ ने दिल्ली में शाहजहाँनाबाद का निर्माण करवाया जो हमीद अहमद ‘ नामक शिल्पकार की देखरेख में सम्पन्न हुआ । दीवान – ए – आम तथा दीवान – ए – खास किले के अन्दर महत्वपूर्ण भवन थे जिसके बारे में कहा गया है।

“ गर फिरदौस वर रूये जमीं अस्त

हमी अस्त हमी अस्त ‘ ‘

ताजमहल का निर्माण शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताजमहल की याद में करवाया | था इसका मुख्य स्थापत्यकार था उस्ताद अहमद लाहौरी तथा मिस्त्री ‘ उस्ताद ईसा ‘।

6. औरंगजेब

औरंगजेब को ललित कला में रूचि नहीं थी लेकिन उसके समय दिल्ली के लाल किले में मोती मस्जिद , लाहौर में बादशाही मस्जिद तथा रबिया दुर्शनी का मकबरा औरंगाबाद में बनवाया गया था ।

उम्मीद करता हूं दोस्तों आपको यह पोस्ट जरूर पसंद आई होगी अगर पसंद आई है तो अभी सोशल मीडिया पर इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसे ही पोस्ट पाने के लिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करें। !

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *