Ramzan Mubarak Shayari in Hindi | रमजान मुबारक शायरी 2020

Ramzan Mubarak Shayari in Hindi: रमजान पूरी दुनिया के 1.6 अरब मुसलमानों के बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार में से एक है। यह महीना और बरकतों का पाक महीना माना जाता है। यह रमजान के महीने में पूरी दुनिया के लोग 30 दिन तक रोजे रखते हैं और शाम को इफ्तारी करते हैं। और सभी रोजेदार पांचो time की नमाज भी अदा करते हैं और कुरान की तिलावत करते हैं। रमजान के महीने में एक वक्त ऐसा है, जो तरावी के नाम से जाना जाता है। ईशा की नमाज के बाद तरावी पढ़ी जाती है.

Ramzan Mubarak Shayari
रमजान मुबारक शायरी 2020

सभी मुस्लिम भाई बहन तरावीह की नमाज को अदा करते हैं। इसी रमजान के महीने में फजर की नमाज से पहले सभी मुस्लिम भाई बहन रात के 2:00 बजे से 3:00 बजे तक शहरी की अच्छे से इंतजाम करके खाना खाते हैं और सभी नियमित खाते हैं। इसी वक्त रोजे की नीयत अमल कर लेते है। और पूरे दिन गुजर जाने पर मगरिब की नमाज के वक्त रोजे इफ्तारी करते हैं।

यह महीना मुस्लिम धर्म में बहुत ही बरकतों का महीना है। हमारे हजरत पैगंबर मोहम्मद साहब ने यह फरमाया है, कि जब रमजान का महीना शुरू होता है, तो जन्नत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं और दोजक के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं। और शैतानों को जंजीर से बांध दिया जाता है। इसीलिए सभी मुस्लिम भाइयों से गुजारिश है कि 1 साल में एक महीना रमजान होता है, इस महीने में रमजान जरूर रखें। और पांच वक्त की नमाज भी अदा करें। इसलिए रमजान 2019 की दीन शायरी लेकर आए है, इस शायरी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

रमजान 2019 कब है?

इस साल 2019 में रमजान 7 मई 2019 को शुरू होंगे। और 6 जून 2019 कि शाम को विदा होंगे।

रमजान मुबारक शायरी हिंदी में 2020 | Ramzan Mubarak Shayari in Hindi

आज के दिन क्या घटा छायी है,
चारो और खुशियों की फ़िज़ा छायी है,
हर कोई कर रहा है सजदा खुदा को,
तुम भी कर लो बंदगी आज ईद आई है.

Aasman Pe Naya Chand Hai Aaya,
Saara Aalam Khushi Sy Jagmgiya,
Ho Rahi Hy Sahir-Oh-Aftr Ki Tiyari,
Saaj Rahi Hy Duaon Ki Savri.

ज़न्नत से नज़राना भेजा हैं,
खुशियों का ख़जाना भेजा हैं,
कुबूल फ़रमायें दिल की दुआ हैं,
ईद मुबारक का फ़रमान भेजा हैं.

Pury Hun Apky Hr Dil Ky Armaan,
Mubrk Ho Ap Sabko Pyaara Ramadan..!!!

हटा कर जुल्फें चेहरे से,
न छत पर शाम को जाना,
कही कोई ईद न कर ले,
अभी रमज़ान बाकी है,
रमज़ान मुबारक।

Marhaba Sad Marhaba Phir Aamad E Ramazan Hy,
Khil Uthey Murjhaey Dil,Taaza Hua Emaan Hy,
Hum Gunah Garo Pe Ye Kitna Bara Ehsaan Hy,
Ya Khuda Tu Ny Ataa Phir Kar Dia Ramazan Hy,
Abr E Rehmat Chaa Gaya Hy Or Samaa Hy Noor Noor,
azl E Rub Sy Maghfirat Ka Ho Gaya Samaan Hy,
Masjide’n A’baad Hen,Zor E Guna Kum Ho Gaya,
Mah E Ramazan Ul Mubarak Ka Ye Sub Faizan Hy,
Ya Ilahi! Tu Madiney Me Kabhi Ramazan Dikha,
Muddato’n Sy Dil Me Ye Attar K Armaan Hy !

रमज़ान आया है,
रमज़ान आया है रहमतों की बरकतों का महीना आया है,
लूट लो नेकियाँ जितना लूट सकते हो,
पूरे एक साल में ये ऑफर का महीना आया हैं।

Ramzan Mubarak Shayari in Hindi

Gul Ne Gulshan Se Gul Faam Bheja Hai,
Sitaroon Ne Asmaan Se Salam Bheja Hai,
Mubarak Ho Aapko Ramadan Ka Mahina,
Ye Paigham Hamnain Sirf Apko Bheja Hai.

चांद से रोशन हो रमजान तुम्हारा,
इबादत से भरा हो रोजा तुम्हारा,
हर रोरा और नमाज़ कबूल हो तुम्हारी,
यही अल्लाह से है दुआ हमारी,
Ramadan Mubarak.

Aey Rehmat-E-Azeem K Mehmaan Assalam,
Quran K Nuzul K Samaan Assalam,
Ramzan Assalam Hai Ramzan Assalam,
Ramzan Ka Chand B0h0t Mubarak Ho.

रमज़ान का चाँद दिखा रोज़े की दुआ मांगी,
रोशन सितारा दिखा आप की खैरियत की दुआ मांगी,
आप सभी को रमज़ान मुबारक।

Hum ap k dil main rehte hain,
Is liye her dard sehte hain,
Koi hum se pehle WISH na ker de apko,
Is liye sub se pehlay “Happy Ramadan ul mubarak” kehte hain.

गुल ने गुलशन से गुलफाम भेजा है,
सितारों ने आसमान से सलाम भेजा है,
मुबारक हो आपको रमज़ान का महीना,
ये पैगाम हमनें सिर्फ आपको भेजा है,
रमजान मुबारक।

Raat ko naya chand mubarak,
Chand ko chandni mubarak,
Falak ko sitare mubarak,
Sitaroon ko bulandi mubarak,
Aur aap ko hamari taraf se,
RAMADAN MUBARAK.

ऐ चाँद उनको मेरा पैगाम कहना,
खुशी का दिन और हसी की हर शाम कहना,
जब वो देखे बहार आकर,
तो उनको मेरी तरफ से मुबारक हो रमज़ान कहना।

Happy Ramzan Mubarak Shayari 2020

Ramadan ka chand daikha,
Rozay ki dua mangi,
Roshan sitara daikha,
Aap ki khairiat ki dua mangi,
May Almight Allah bless you with his,
blessing in the holy month of Ramadan.

चुपके से चांद की रोशनी छू जाए,
आपको धीरे से ये हवा कुछ कह जाए,
आपको दिल से जो चाहते हो मांग लो,
खुदा से हम दुआ करते है मिल जाए वो आपको!!

Gul Ne Gulshan Se Gul Faam Bheja Hai,
Sitaroon Ne Asmaan Se Salam Bheja Hai,
Mubarak Ho Aapko Ramadan Ka Mahina,
Ye Paigham Hamnain Sirf Apko Bheja Hai.

आसमान पे नया चांद आया,
सारा आलम खुशी से जगमगाया,
हो रही है इफ्तार की तैयारी,
सज रही है दुआओं की सवारी,
मुबारक हो आपको प्यारा रमजान। रमजान मुबारक!

Ya Rab Is Soe Hoe Insan Ko Jaga De,
Bistar Hai Is Ka Narm Tu Pathar Ka Bana De,
Khatmalon Or Macharon Ki Duty Is Par Laga De,
Jis Ki Hawa Se Wo Madhosh Hai Us Pankhay Ko Tu Jala De,
Or Kuch Nahi To Bas Esay Aek Saza De,
Khowab Mai Esay Koi Is K Jesa Bhoot Dikha De.

रात को नया चाँद मुबारक,
चाँद को चांदनी मुबारक,
सितारों को बुलंदी मुबारक,
और आप सब को हमारी तरफ से रमज़ान मुबारक।

Sar se lekar paon tak Tanveer hi Tanveer hae,
jaise mohn se bolta hae Quran woh taqreer hae,
duniya dil main sochti hae Mustufa(S.A) ko dekh kar,
Woh musavir kaisa hoga jis ki yeh tasveer hae.

लेकर आये हैं नया नजराना कहने को,
दिल का नया फ़साना मुबारक हो,
तुमको ये ईद,
हमारी सारी आरज़ू हो पूरी तुम्हारी।

Ramzan Mubarak Shayari 2020

Raat ko naya chand mubarak,
Chand ko chandni mubarak,
Falak ko sitare mubarak,
Sitaroon ko bulandi mubarak,
Aur aap ko hamari taraf se,
RAMADAN MUBARAK.

चुपके से चांद की रौशनी छू जाए,
आपको धीरे से ये हवा कुछ कह जाए,
आपको दिल से जो चाहते हो मांग लो,
खुदा से हमारी दुआ हैं इस ईद वो मिल जाए आपको आप सभी को.
ईद मुबारक।

Sitarun Ny Asman Sy Salam Bijha Hy,
Mubrk Ho Apko Ramadan Ka Yeh Mahina,
Ye Paigham Humein Sirf Apko Bijha Hy.

ऐ दोस्त तेरे पास होते तो गले लगाते,
दूर ही सही फिर हम वो रस्म निभायेंगे,
गले तो नहीं पर शायरी सुनायेंगे,
ईद मुबारक हो मुबारक ज़ोर- ज़ोर से चिल्लायेंगे।

रमजान मुबारक शायरी 2020

Hr Ghar Main 2 Dastk,
Keh Khushi Ka 1 Aur Pegham Aa Raha Hy,
Mubrk Ho Apko Mah e Ramadan Aa Raha Hy.

किसी का ईमान कभी रोशन न होता,
आगोश में मुसलमान के अगर कुरान न होता,
दुनिया न समझ पाती कभी भूख और प्यास की कीमत,
अगर 12 महीनों में एक रमज़ान न होता,
रमज़ान मुबारक.

Koi Hum Sy Pehly Wish Na Kr Dy Apko,
Is Liye Sab Se Pehle “Happy Ramadan Ul Mubarak Kehte Hain.

रमजान आया है,
रमजान आया है रहमतों का बरकतों का महीना आया है,
लूट लो नेकियां जितना लूट सकते हो,
पूरे एक साल में ये ऑफर का महीना आया है,
Ramzan Mubarak.

Ramadan Ka Chand Dikha,
Rozy Ki Dua Maangi,
Roshaan Sitra Dikha,
Aapki Kariyat Ki Dua Mangi,
May Almight Allah Bless U With His,
Blessing in the Holy Month of Ramadan.

उम्मीद करता हूं रमजान मुबारक पर बेहतरीन शायरी आपको जरूर पसंद आई होंगी। अगर आपको पसंद आई है तो अभी सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों को शेयर करें और ऐसे ही त्योहार पर शायरी पाने के लिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब जरूर करें।!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *